मेरे बारे में

मेरी फ़ोटो
my name is pratibha,it means inteligence.I believe that one should be hard working.by hard work you can get inteligence and success.

बुधवार, 29 सितंबर 2010

वास्तु और विज्ञानं.

वास्तु   पर विश्वास करने वाले अधिकतर लोग इसे अंध विश्वास के रूप में देखते हैं इस विषय में मैं ये समाधान करना चाहूंगी कि वास्तु शास्त्र पूरी तरह विज्ञानं सम्मत है.भारत और विदेशों में भी अनेकों प्रयोगों के द्वारा यह प्रमाणित हो चूका है क़ि वास्तु शास्त्र के नियम  विज्ञानं के नियमों की ही भांति सार्वभोमिक हैं .sarvbhoamikta   का अर्थ है किसी भी चीज का हर परिस्थिति में लागु होना जैसे क़ि पानी को अगर  आग पर रखा जाएगा तो वह गरम अवश्य होगा चाहे उस समय हम सुखी हों ,उदास या परेशां हों ,पहली मंजिल पर हों या दसवीं पर हों ,चीन में हों या जापान में हों. उसी प्रकार वास्तु के निर्देशों का पालन करने से वे अवश्य ही हमें लाभ पहुंचाते हैं चाहे हम किसी भी जगह पर हों या किसी भी मन: स्थिति में हों..मेरा कहने का मतलब केवल इतना है क़ि अगर आप याकोई भी वास्तु को केवल इसलिए नहीं अपना रहा है क्योंकि वह इसे विज्ञानं-सम्मत नहीं मानता तो शायद वह गलत है कम से कम मेuहिसाब से किसी चीज का परीक्षण किए बिना उस पर निर्णय देना उचित नहीं लगता

1 टिप्पणी:

dilip kumar Dwivedi ने कहा…

-JYOTISHACHARYA-PANDIT-DILIP DEV DWIVEDI, VINDHYA JYOTISH SADHNA KENDRA, WEB - VINDHYAJYOTISH.COM, MO-9473614183-and 9651808820-ya 7278400462 - Mumbai, Vashi, Koper - Kana [
--नरेन्द्र मोदी : 2014 भाग्यशाली रहेगा
नरेन्द्र मोदी : क्या कह रहे हैं चुनावी सितारे---

---आज के सबसे अधिक चर्चित नेता नरेन्द्र मोदी ही है। भाजपा ने उनके नेतृत्व में आगामी लोकसभा चुनाव की कमान सौप दी है।

लेकिन इस समय भाजपा में सबसे अधिक मुश्किलों का सामना कोई कर रहा है तो वह सिर्फ नरेन्द्र मोदी ही है। इसका एक कारण उनका वृश्चिक राशि व लग्न का होना भी है। वृश्चिक राशि वाले वैसे भी स्पष्टवक्ता होते हैं।

आज चाटुकारिता का जमाना है, जो वह नहीं करते। (मैंने पूर्व में भविष्यवाणी की थी कि वह फिर चुनाव जीतेंगे सो गुजरात में विजयी हुए एवं 2014 में प्रधानमंत्री के योग है, सो अभी से स्पष्ट दिख रहा है--

-अभी उनके सबसे ज्यादा चर्चित व मुश्किलों में पड़ने का कारण गुरु व शनि को जाता है। शनि सूर्य की राशि सिंह में होकर दशम राजनीति भाव में है व वर्तमान में उच्च का होकर द्वादश भाव में है। लेकिन चतुर्थ भाव व तृतीय भाव का स्वामी होने से जनता के बीच प्रसिद्धि को बनाए हुए है।

पराक्रम बढ़ा-चढ़ा रहेगा। लेकिन गुरु पंचम भाव (विद्या) का स्वामी कहीं ना कहीं गोचर से अष्टम भ्रमण करने के कारण परेशानियों में भी डालेगा। गुरु वक्री होकर चतुर्थ भाव में कुंभ का है।

--आगामी 2014 में लोकसभा के चुनाव होंगे। उस समयावधि में गुरु की स्थिति उच्च की होगी। आपकी पत्रिका में पंचमेश व वाणी भाव का स्वामी, नवम (भाग्य) से गोचर भ्रमण करने से भाग्यशाली बनाएगा व निश्चित ही आपके नेतृत्व में कोई चमत्कार की उम्मीद रहेगी।

चुनाव के समय चन्द्र भाग्य की महादशा चलेगी और गुरु चन्द्र की राशि कर्क से भ्रमण करेगा जो उच्च का होगा। वाणी का प्रभाव बढ़ेगा व चुनावी समर में निश्चित विजय दिलागा।

मोदी को पुखराज के साथ मोती पहनना लाभकारी रहेगा।


-JYOTISHACHARYA-PANDIT- DILIP DEV DWIVEDI,VINDHYA JYOTISH SADHNA KENDRA, WEB - VINDHYAJYOTISH.COM ,MO- 9473614183-and 9651808820-ya 7278400462--मुंबई वाशी कोपर-खैना